Sunday, 4 June 2017

V

mआज विश्व पर्यावण दिवस के अवसर पर virtuous क्लब इण्डिया की तरफ से स्थानीय नव प्रगति स्कुल में चल रहे दस दिवस के समर केम्प में पेड़ पर्यावरण और हम विषय पर सेमिनार करवाकर क्लब ने आपने प्रकल्प पेड़पोधा बैंक तहत 132 तुलसी के पौधे बच्चो को उपहार स्वरूप देकर उनको पेड़ मित्र बनाया गया और आह्वान भी किया वेअपने जन्म दिन वैवाहिक वर्षगांठ या बजुर्गो की पुण्य तिथि को याद में पेड़ भी लगाये या उपहार भी दे
क्लब संस्थापक केशव शर्मा ने कहा कि प्रदूषण समस्या हमारे जीवन में विकराल रूप ले चुका है  पेड़ो की कमी से अनोको अनेक बीमारियां फैल रही है  पोलोथिन मुक्त अभियान की भी आज जरूरत है ताकि स्वस्थ विश्व का निर्माण हो सके  क्लब प्रधान एवं रंगकर्मी संजीव शाद ने कहा कि पेड़ो को मित्र बन कर जीवन को सुखदायक बना सकता है उन्होंने कहा कि जिस दिन आखरी नदी सूख जायेगी जिस दिन आखरी मछली मर जायेगी जिस दिन आखरी पेड़ मिट जाएगा उस दिन जेब में पड़ा  रुपया किसी भी काम नही आएगा
मुख्य वक्ता डॉ बीर चन्द गुप्ता ने आपने वक्तव्य में कहा  ज्यो ज्यो मानव सभ्यता का विकास हो रहा त्यों पर्यावरण के प्रदूषण की मात्रा बढ़ती जा रही हैं मनुष्य की जीवन शैली क्रियाकलाप इसमें काफी हद तक जिमेवार है जल प्रदूषण वायु प्रदूषण ध्वनि प्रदूषण ने मानव जीवन के आधार को ही खत्म कर दिया पर्यावरण के प्रति  संयुक्त राष्ट्र के उस पत्र पर चिंता व्यक्त की 2050 में खाने पीने रहने आदि की मारामारी होगी और ग्लोवल वार्मिग से मानवजाति को बड़ा नुकसान होगा  इसके लिए आज के दिवस को एक आंदोलन और एक संकल्प के रूप में मना कर पेड़ लगाने होंगे  जिसका चिंतन करते 190 देशों ने पेरिस जलवायु सन्धि पर सहमति हस्ताक्षर कर दिए है ताकि आने वाला कल आने वाली पीढ़ी के लिए सुखदायक हो
वेद भारती जी ने कहा धरती हम सब के लिए कुदरत काअनुपम उपहार है इसलिए हम ने धरती को माँ का दर्जा दिया है कविता  मैं हूँ पेड़ बड़ा दुख आता है जब तुम मुझे बेदर्दी से काटते हो...छात्रा दीप्ती ने ताजगी की चाह में हम घुटते जा रहे है जीवनदायनी हवा को विषैला बना रहे है
सुन लो ओ दुनिया वालो फिर दिन हमारे वही आये आओ मिल कर फिर से पृथ्वी को गुलिस्ता बनाये छात्रा पूनम ने पर्यावरण के प्रति पेंटिग भी की इस अवसर पर विद्यालय परिवार ने ठंडे मीठे जल की छबील भी लगाई
प्रिंसिपल चंद्रकांता भारती सभी  ने बच्चो को कहा कि वृक्ष कबहू नही फल भखे नदी न सींचे नीर परमार्थ के कारने साधु धरा शरीर आओ समाज के प्रति सजग होकर दायत्व निभाए वे पौधों को सींचे इस अवसर पर अमित खरब सुमित भारती सुमित अनेजा ज्ञानी ज्ञान सिह केशव बांसल जसविंदर कौर  मंजूबाला मधु अंग्रेज सिह मेहन्द्र सिह और स्टाफ सदस्य हाजिर थे

Sunday, 7 May 2017

V

डबवाली virtuous परिवार की वार्षिक साधारण सभा महाराज पैलैस में  हुई जिसमें क्लब के मुख्य सलाकार आत्मा राम अरोड़ा ने virtuous परिवार के सदस्यों को अपना आशीर्वाद देते हुए कहा कि  समाज की सेवा तो  मन के भाव का कार्य है दयालु भाव हम सब के दिलो में इक संस्कार बन कर जन्म लेता है तभी मानवता की सेवा की और हाथ बढ़ते है
की समस्या के प्रति जागृत होना ही प्रगतिशील समाज की पहली सीढ़ी है  कला संस्कृति शिक्षा खेल स्वस्थ और समाज से में virtuous क्लब शहरवासियों के सहयोग से आपने दायत्व को निभा रहा है
कला कुंज के फ़नकारों ने माँ सरस्वती की आराधना से प्रोग्राम का आगाज किया  महान मरहूम शायर शिव कुमार बटालवी की पुण्य तिथि के अवसर पर गायक जसदीप सिह ने "रोग बन के रह गया प्यार तेरे शहर दा मैं मसीहा देखया बीमार तेरे शहर दा...... गीत गा कर श्रदा के भाव दिए वही क्लब के अनेको हास्य कवि समेलनो  के मंच पर  डबवाली के दर्शको के दिलो पे आपनी अमिट छाप छोड़ने वाले मरहूम हास्य कवि हरि सिंह दिलबर जी को याद करके सभी सदस्यों ने खड़े होकर दो मिनट का मौन धारण करके श्रदांजलि दी  क्लब के प्रधान सजीव शाद ने कहा कि दिलबर जी की हास्य व्यंग्य जीवन रूपी काव्य यात्रा  सदैव साहित्यक क्षेत्र में याद रखी जायेगी  क्योकि कवि की कलम शब्द और अर्थ समाज को नई दिशा देते है    virtuous परिवार इस वर्ष टैफिक नियम सेव फूड चोंच भर नीर छबील पेड़ मित्र ज्योति और स्माइल  स्पेट्स टूर्नामेंट प्रदूषण रहित दिवाली सेमिनार जैसे प्रकल्पों के माद्यम से जन जागरण अभियान चलाने का प्रयास करेगा
इस अवसर पे क्लब के नए सदस्य के रूप में पूर्व प्रिंसिपल सुरजीत मान परवीन सिंगल सुमित अनेजा मनोज शर्मा जी को शामिल किया गया और सभी नये आर्थिक सहायतार्थ सदस्यों का भी जोरदार स्वागत किया  गायक अनमोल साहिल सोनी गगन सोनी अजय गिल अंश सागर  ने गीत गा कर समय को यादगर बना दिया
संस्थापक केशव शर्मा ने क्लब की गतिविधियों के बारे में बताया जबकि आथितयो का स्वागत डॉ वीर चन्द गुप्ता ने किया  मंच संचालन सचिव सोनू बजाज ने बखूबी निभाया
सभी का धन्यवाद जीतेंद्र शर्मा ने किया इस अवसर पे क्लब  प्रबन्धक समिति  एवं सदस्य गण उपस्थित थे यह जानकारी क्लब pro वर रमेश सेठी ने दी

Monday, 3 April 2017

तुम

तुम
सिर्फ तुम
तुम को कभी देखा नही
वो भी नही
जिसको तुम समझते हो
तुम मेरी समझ से भी परे हो
तुम ही सृष्टि तुम ही दृष्टि
तुम ही राधा तुम मीरा
तुम ही भक्ति तुम ही शक्ति
तुम ही मन्दिर तुम मूरत
तुम जग में तुम जीवन में
तुम अगम अगोचर
तुम में प्रेम तुम प्रीतम
तुम में अंत तुम में आगाज
तुम ही रात तुम प्रभात
मैं से तू तक
का सफर 
मैं को खोया तुम को पाया
तुम ही
मंजिल
तुम ही
मुसाफिर ..........
तुम ही तुम को तुम से मिलने आया
तो बस ये ही समझ आया
खाली हाथ  तब तेरा साथ
उतना सफर आसान जितना कम समान
तो फिर अब

धड़कन दिल की संगीत हो

मरना यार के लिए इक प्रीत हो

तुम ही याद तुम ही फरियाद
सफर..............खत्म । shaad

Thursday, 30 March 2017

रिजक

रीजक(रोजी-रोटी)बिखेर दी
संसार में उसने हवा में उछाल के
उसको इकठ्ठा करने के लिए
भटकता रहा सूखे पते की तरह
मेरा जीवन ...........
आज देर रात
घर लौटा हूँ
बड़े दिनों बाद
वो भी
खाली जेब
खाली हाथ
जानता  हूँ मैं की .......
कुछ कमाई ऐसी भी होती  है
जो  सिर्फ  मिलती है
परखने के बाद
या
दुनिया में ना होने के बाद ....
इसलिए तो..
उड़ रही है पल पल ज़िन्दगी रेत सी,
और मुझे भ्रम है कि मैँ बड़ा हो रहा हू
शुभ रात्रि .......
कल सवेरे फिर काम की तलाश..... में
मैं और मेरा जीवन ... shaad
(कभी कभी बस यूँ ही........)

Saturday, 25 March 2017

रंगमंच

Phonetic

Go  देवनागरी 

विश्व रंगमंच दिवस  

विश्व रंगमंच दिवस

विवरणइस दिवस का एक महत्त्वपूर्ण आयोजन अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश है, जो विश्व के किसी जाने माने रंगकर्मी द्वारा रंगमंच तथा शांति की संस्कृति विषय पर उसके विचारों को व्यक्त करता है।स्थापनाइंटरनेशनल थियेटर इंस्टीट्यूट द्वारा 1961मेंसंबंधित लेखरंगमंचनाटकविश्व कविता दिवसअन्य जानकारी1962 में पहला अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश फ्रांस की जीन काक्टे ने दिया था। वर्ष 2002 में यह संदेश भारत के प्रसिद्ध रंगकर्मी गिरीश कर्नाड द्वारा दिया गया था।बाहरी कड़ियाँआधिकारिक वेबसाइटअद्यतन‎

13:10, 23 मार्च 2015 (IST)

विश्व रंगमंच दिवस (अंग्रेज़ीWorld Theatre Day) प्रत्येक वर्ष 27 मार्च को मनाया जाता है।

स्थापना

विश्व रंगमंच दिवस की स्थापना 1961 में इंटरनेशनल थियेटर इंस्टीट्यूट (International Theatre Institute) द्वारा की गई थी। रंगमंच से संबंधित अनेक संस्थाओं और समूहों द्वारा भी इस दिन को विशेष दिवस के रूप में आयोजित किया जाता है। इस दिवस का एक महत्त्वपूर्ण आयोजन अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश है, जो विश्व के किसी जाने माने रंगकर्मी द्वारा रंगमंच तथा शांति की संस्कृति विषय पर उसके विचारों को व्यक्त करता है। 1962 में पहला अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश फ्रांस की जीन काक्टे ने दिया था। वर्ष 2002 में यह संदेश भारत के प्रसिद्ध रंगकर्मी गिरीश कर्नाड द्वारा दिया गया था।

विश्व रंगमंच दिवस संदेश

जीवन के रंगमंच पर रंगमंच की मूल विधाओं का सीधा नाता है ,वे आईने की रूप में समाज की अभिवायाकतियो को व्यक्त करती है, सभ्यता के विकास से रंगमंच की मूल विधाओ में परिवर्तन स्वभाविक है। किन्तु लोकरंग व लोकजीवन की वास्तविकता से दूर इन दिनों आधुनिक माध्यमों यथा टेलीविज़नसिनेमा और वेबमंच ने सांस्कृतिक गिरावट व व्यसायिकता को मूल मंत्र बना लिया है जिससे मूल विधाएँ और उनके प्रस्तुतिकारों को वह प्रतिसाद नहीं मिल पाया है जिसके वो हक़दार हैं। मानवता की सेवा में रंगमंच की असीम क्षमता समाज का सच्चा प्रतिबिम्बन है। रंगमंच शान्ति और सामंजस्य की स्थापना में एक ताकतवर औज़ार है। लोगों की आत्म-छवि की पुर्नरचना अनुभव प्रस्तुत करता है, सामूहिक विचारों की प्रसरण में, समाज की शान्ति और सामंजस्य का माध्यम है, यह स्वतः स्फूर्त मानवीय, कम खर्चीला और अधिक सशक्त विकल्प है व समाज का वह आईना है जिसमें सच कहने का साहस है। वह मनोरंजन के साथ शिक्षा भी देता है। भारत में भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के नाटकोंव मंडली से देश प्रेम तथा नवजागरण की चेतना ने तत्कालीन समाज में उद्भूत की, जो आज भी अविरल है। 'अन्धेर नगरी' जैसा नाटक कई बार मंचित होने के बाद भी उतना ही उत्साह देता है। कालिदास रचित अभिज्ञान शाकुंतलम्मोहन राकेशका आषाढ़ का एक दिन, मोलियर का माइजर, धर्मवीर भारती का 'अंधायुग', विजय तेंदुलकर का 'घासीराम कोतवाल' श्रेष्ठ नाटकों की श्रेणी में हैं। भारत में नाटकों की शुरूआत नील दर्पण, चाकर दर्पण, गायकवाड और गजानंद एण्ड द प्रिंस नाटकों के साथ इस विधा ने रंग पकड़ा।[1]

पन्ने की प्रगति अवस्थाआधारप्रारम्भिकमाध्यमिकपूर्णताशोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

ऊपर जायें↑ विश्व रंगमंच दिवस - हार्दिक शुभकामनाये!(हिन्दी) हमर बिलासपुर (ब्लॉग)। अभिगमन तिथि: 23 मार्च, 2015।

बाहरी कड़ियाँ

आधिकारिक वेबसाइटनाटक - क्रमिक विकास, प्रयोग और प्रयोजनविश्व रंगमंच दिवस संदेश – 2015 : क्रिस्तोव वार्लिकोव्सकीथियेटर करना – विश्व रंगमंच दिवस परदेश-विदेश में रंगमंच दिवस

संबंधित लेख

[छिपाएँ]

देखें • वार्ता • बदलें

महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय दिवस

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस · अंतरराष्ट्रीय वृद्ध दिवस ·अप्रैल फ़ूल दिवस · अंतरराष्ट्रीय मैत्री दिवस · विश्व पर्यटन दिवस · पितृ दिवस · मातृ दिवस · विश्व स्तनपान दिवस (सप्ताह) · विश्व हास्य दिवस · विश्व हिन्दी दिवस · मई दिवस · साक्षरता दिवस · विश्व पर्यावरण दिवस · पृथ्वी दिवस · विश्व परिवार दिवस · अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस ·विश्व विरासत दिवस · अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस ·अन्तरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस · अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ·अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस · विश्व धूम्रपान निषेध दिवस ·लुई ब्रेल दिवस · विश्व शांति दिवस · विश्व मलेरिया दिवस ·विश्व जल दिवस · विश्व मानवाधिकार दिवस · विश्व रेडक्रॉस दिवस · विश्व पोलियो दिवस · विश्व खाद्य दिवस ·विश्व स्वास्थ्य दिवस · अंतरराष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस ·विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस · विश्व हृदय दिवस ·विश्व पर्यावास दिवस · विश्व महासागर दिवस · विश्व हीमोफ़ीलिया दिवस · विश्व फ़ोटोग्राफ़ी दिवस · नागासाकी दिवस · विश्व रक्तदान दिवस · विश्व आयोडीन अल्पता दिवस · हिरोशिमा दिवस · महिला समानता दिवस · विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस · अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस · विश्व दूरसंचार दिवस · विश्व विवाह दिवस · विश्व सामाजिक न्याय दिवस · अंतरराष्ट्रीय दास प्रथा उन्‍मूलन दिवस · विश्व मधुमेह दिवस · अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस · विश्व अल्जाइमर दिवस · विश्व जनसंख्या दिवस · अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस · विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस · मजदूर दिवस · विश्व गौरैया दिवस · अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस ·श्रमिक दिवस · विश्व डाक दिवस · विश्व संगीत दिवस ·विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस · विश्व युवा दिवस · विश्व ओज़ोन दिवस · विश्व एड्स दिवस · राष्ट्रीय प्रेस दिवस ·राष्ट्रीय पोषाहार दिवस (सप्ताह) · विश्व कैंसर दिवस ·विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवस · विश्व नारियल दिवस ·विश्व मूक बधिर दिवस · पाई दिवस · अंतरराष्ट्रीय अल्पसंख्यक अधिकार दिवस · अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस · विश्व दुग्ध दिवस · विश्व जैव विविधता दिवस ·विश्व वानिकी दिवस · विश्व सतत ऊर्जा दिवस · विश्व रेडियो दिवस · विश्व मौसम विज्ञान दिवस · विश्व कठपुतली दिवस · अंतरराष्ट्रीय रंगभेद उन्मूलन दिवस ·पुलिस स्मृति दिवस · विश्व कविता दिवस · विश्व क्षयरोग दिवस · विश्व रंगमंच दिवस · विश्व अस्थमा दिवस ·अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस · विश्व ऑटिज़्म जागरूकता दिवस· विश्व एथनिक दिवस · अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस · विश्व पशु चिकित्सा दिवस · विश्व थैलेसिमिया दिवस · अंतर्राष्ट्रीय बाल रक्षा दिवस · विश्व बालश्रम निषेध दिवस · विश्व शरणार्थी दिवस · विश्व दृष्टि दिवस · विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस · विश्व आघात दिवस · विश्व स्थापत्य दिवस · विश्व आवास दिवस · वेलेंटाइन दिवस

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                                      अं                                                                                                                                     क्ष    त्र    ज्ञ                श्र   अः

श्रेणियाँप्रारम्भिक अवस्थाअंतरराष्ट्रीय दिवसमहत्त्वपूर्ण दिवसविज्ञान कोश

To the top

   

गणराज्य

इतिहास

पर्यटन

साहित्य

धर्म

संस्कृति

दर्शन

कला

भूगोल

विज्ञान

खेल

सभी विषय

भारतकोश सम्पादकीय

भारतकोश कॅलण्डर

सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

ब्लॉग

संपर्क करें

योगदान करें

भारतकोश के बारे में

अस्वीकरण

भारतखोज

ब्रज डिस्कवरी

© 2017 सर्वाधिकार सुरक्षित भारतकोश